post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

तमिलनाडु में भाजपा ने की दुर्ग भेदने की तैयारी, शशिकला होंगी साथ?

Public Lokpal
June 02, 2022 | Updated: June 02, 2022

तमिलनाडु में भाजपा ने की दुर्ग भेदने की तैयारी, शशिकला होंगी साथ?


नई दिल्ली: अन्नाद्रमुक और सहयोगी भाजपा के बीच अंदरूनी कलह के बीच, तमिलनाडु के भाजपा विधायक नैनार नागेंद्रन ने बुधवार को कहा कि अपदस्थ अन्नाद्रमुक नेता वी के शशिकला का उनकी पार्टी में स्वागत है।

उन्होंने कहा, 'अगर अन्नाद्रमुक पूर्व अंतरिम महासचिव को दोबारा नहीं लेना चाहती तो हम उनका भाजपा में स्वागत करेंगे। पुदुकोट्टई में नागेंद्रन ने कहा, हम यह चाहते हैं कि वह भाजपा में शामिल हों क्योंकि इससे पार्टी को आगे बढ़ने में मदद मिलेगी।

भाजपा विधायक का यह बयान शशिकला द्वारा अन्नाद्रमुक में वापसी की अटकलों को हवा देने के कुछ दिनों बाद आया है। शशिकला ने पहले दावा किया था कि केवल अन्नाद्रमुक के कुछ नेता, जो पार्टी चुनाव की मांग कर रहे हैं, पार्टी में उनके दोबारा शामिल होने के खिलाफ हैं।

उन्होंने कहा था “हर कोई मेरे खिलाफ नहीं बोलता। केवल कुछ हैं। वे शायद पार्टी में पद की उम्मीद में इस तरह की टिप्पणी कर रहे होंगे। पार्टी की शुरुआत हमारे नेता ने की थी और केवल कार्यकर्ता ही नेतृत्व तय कर सकते हैं''।

नागेंद्रन की टिप्पणी के कुछ घंटों बाद, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के अन्नामलाई ने कहा कि पार्टी का संसदीय बोर्ड और वरिष्ठ नेता इस पर फैसला करेंगे। अन्नामलाई ने कहा कि यह नागेंद्रन की निजी राय थी।

अन्नामलाई ने कहा, 'भाजपा में कोई भी शामिल हो सकता है। हालांकि, कुछ व्यक्तियों के मामले में, केवल संसदीय बोर्ड और वरिष्ठ नेता ही उचित समय पर निर्णय लेंगे”।

नैनार नागेंद्रन की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब दोनों सहयोगियों के बीच अंदरूनी कलह चल रही है।

अन्नाद्रमुक के संगठनात्मक सचिव सी पोन्नईयन ने मंगलवार को भाजपा नीत केंद्र सरकार पर राज्य के राजस्व की चोरी करने का आरोप लगाया था, इसके अलावा पार्टी को चुनावी हार, अल्पसंख्यक समुदाय का समर्थन खोने और "तमिल विरोधी" नीतियों, विशेष रूप से छात्रों से संबंधित नीतियों के लिए दोषी ठहराया था।

यह पूछे जाने पर कि अगर द्रमुक को हराना मुख्य चुनौती है तो शशिकला को पार्टी से बाहर क्यों रखा जा रहा है? तो पोन्नईयन ने कहा कि जनता के बीच यह भावना थी कि शशिकला की लापरवाही के कारण पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी सुप्रीमो जे जयललिता की मृत्यु हुई। उन्होंने कहा, शशिकला से नाता तोड़ने का यही मुख्य कारण था।

NEWS YOU CAN USE

Top Stories

post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

Advertisement

Pandit Harishankar Foundation

Videos you like

Watch More