post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

कोरोना की चौथी लहर से ऑस्ट्रिया ने की राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन; टीकाकरण को बनाया अनिवार्य

Public Lokpal
November 19, 2021

कोरोना की चौथी लहर से ऑस्ट्रिया ने की राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन; टीकाकरण को बनाया अनिवार्य


नई दिल्ली: पश्चिमी यूरोप में संक्रमण की नई लहर से निपटने के लिए ऑस्ट्रिया में एक पूर्ण कोरोनावायरस लॉकडाउन लागू करने वाला पहला देश बन गया है। फरवरी तक इसकी पूरी आबादी को टीकाकरण करवाना अनिवार्य होगा।

अल्पाइन राष्ट्र ऑस्ट्रिया ने अगले साल 1 फरवरी से कोविड -19 टीकाकरण अनिवार्य करने की योजना बनाई है, लॉक डाउन सोमवार से शुरू होगा और 10 दिनों के बाद इसकी समीक्षा किया जाएगा।

ऑस्ट्रियाई चांसलर अलेक्जेंडर शैलेनबर्ग ने कहा, "यह बहुत दर्दनाक है"। उन्होंने "स्वास्थ्य प्रणाली पर इस तनाव" के लिए टीकाकरण से इनकार करने वालों को दोषी ठहराया।

पिछले सात दिनों से देश में रोजाना 10,000 से ज्यादा नए संक्रमण के मामले सामने आए हैं। अस्पताल तमाम नए COVID​​-19 रोगियों भर गए हैं और मौतें भी फिर से बढ़ रही हैं। ऑस्ट्रिया में अब तक इस वायरस से 11,525 लोगों की मौत हो चुकी है।

89 लाख आबादी वाले देश ऑस्ट्रिया पश्चिमी यूरोप में सबसे कम टीकाकरण दरों में से एक है - केवल 65.7% आबादी पूरी तरह से टीकाकरण में है।

शलेनबर्ग ने कहा, सभी आग्रह और अभियानों के बावजूद, बहुत कम लोगों ने टीकाकरण करवाया है और देश के पास फरवरी में अनिवार्य टीकाकरण शुरू करने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है।

चांसलर ने कहा कि आने वाले हफ्तों में विवरण को अंतिम रूप दिया जाएगा लेकिन जो लोग टीकाकरण से इनकार करते रहे, उनपर उन्हें जुर्माना लग सकता है।

लॉकडाउन का मतलब है कि लोगों को अब कुछ अपवादों को छोड़कर अपने घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है, जैसे कि आवश्यक खरीदारी और व्यायाम। अन्य यूरोपीय देश भी प्रतिबंधों को कड़ा कर रहे हैं क्योंकि पूरे महाद्वीप में मामले बढ़ रहे हैं।

Top Stories

post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

Advertisement

Pandit Harishankar Foundation

Videos you like

Watch More