post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के विधेयक को मंजूरी दी साथ ही बढ़ाई मुफ्त राशन की अवधि

Public Lokpal
November 24, 2021

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के विधेयक को मंजूरी दी साथ ही बढ़ाई मुफ्त राशन की अवधि


एक साल से जिन तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान प्रदर्शन कर रहे हैं, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त करने के निर्णय की घोषणा के पांच दिन बाद केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को कानूनों को वापस लेने के लिए आगामी संसद सत्र में विधेयक को मंजूरी दे दी।

अब कैबिनेट द्वारा अनुमोदित विधेयक को अगले सप्ताह से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र में पेश किया जाएगा।

देश भर में लाखों लाभार्थियों को लाभान्वित करने वाले एक कदम में, केंद्र सरकार ने बुधवार को मार्च 2022 तक मुफ्त राशन प्रदान करने के लिए 'पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना' का विस्तार करने का फैसला किया। इस आशय की घोषणा केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा की गई थी। मंत्री ने कहा कि पांचवें चरण के तहत खाद्यान्न पर 53,344.52 करोड़ रुपये की अनुमानित खाद्य सब्सिडी होगी।

केंद्र सरकार ने पिछले साल COVID महामारी के कारण हुए आर्थिक व्यवधानों के मद्देनजर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के अंतर्गत आने वाले सभी लाभार्थियों के लिए PM-GKAY की घोषणा की थी।

पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना 30 नवंबर को समाप्त होने वाली थी। पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के हिस्से के रूप में, केंद्र लगभग 80 करोड़ एनएफएसए लाभार्थियों को 5 किलो खाद्यान्न मुफ्त प्रदान करता है।

इस योजना में, केंद्र घरेलू बाजार में उपलब्धता में सुधार और कीमतों की जांच के लिए ओएमएसएस नीति के तहत थोक उपभोक्ताओं को चावल और गेहूं दे रहा है।