post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

कृषि कानून वापस लेने के बाद आज लखनऊ में किसानों की महापंचायत; संसद के लिए मार्च अगले सप्ताह

Public Lokpal
November 22, 2021

कृषि कानून वापस लेने के बाद आज लखनऊ में किसानों की महापंचायत; संसद के लिए मार्च अगले सप्ताह


लखनऊ: संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की केंद्र की घोषणा के बाद सोमवार को लखनऊ में सभी प्रदर्शनकारी किसानों को किसान महापंचायत में भाग लेने के लिए कहा गया है। किसान मोर्चा ने 29 नवंबर को संसद तक मार्च निकालने की भी योजना बनाई है, बता दें 29 नवम्बर से सदनों की बैठक शीतकालीन सत्र के लिए शुरू हो रही है।

शहर के आशियाना इलाके के इको गार्डन में सुबह करीब 10 बजे किसान नेता राकेश टिकैत की मौजूदगी में बैठक शुरू हुई है। एमएसपी गारंटी कानून को खारिज करने और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी को हटाने की मांग महापंचायत में उठाई जाएगी। इसके अलावा किसानों की समस्याओं और महंगाई के मुद्दे पर भी चर्चा की जाएगी।

टिकैत ने पहले कहा था, 'किसानों का विरोध जारी रहेगा। कृषि कानून वापसी सिर्फ एक मुद्दा था। अभी भी अन्य मुद्दे बने हुए हैं। मरने वाले किसानों और किसानों के खिलाफ दर्ज मामले अहम मुद्दे हैं। किसानों की मौत की जिम्मेदारी भी सरकार को लेनी होगी और उनके परिवारों को आर्थिक मदद देनी होगी।

टिकैत ने कृषि कानूनों को निरस्त करने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए आगे कहा कि किसानों को अब एमएसपी कानून के लिए संघर्ष करना होगा। उन्होंने कहा था “एमएसपी कानून के बिना, किसानों की आय नहीं बढ़ेगी। किसान को उसकी उपज का एक निश्चित मूल्य मिले, सरकार को भी इस पर कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

Also Read | एसकेएम ने पीएम मोदी को लिखा खुला पत्र, 6 और मांगों पर बातचीत फिर से शुरू करने का किया आग्रह

Top Stories

post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

Advertisement

Pandit Harishankar Foundation

Videos you like

Watch More