post
post
post
post
post
post
post
post
post

भारत को COVID-19 से लड़ने के लिए Google देगा 135 करोड़ रुपये, Microsoft ने भी बढ़ाये मदद के हाथ

Public Lokpal
April 26, 2021

भारत को COVID-19 से लड़ने के लिए Google देगा 135 करोड़ रुपये, Microsoft ने भी बढ़ाये मदद के हाथ


नई दिल्ली: भारत कोरोनावायरस की दूसरी लहर का सामना कर रहा है और देश महामारी से बुरी तरह प्रभावित है। वैश्विक समुदाय ने आगे आकर भारत की मदद के लिए अपना हाथ बढ़ाया है। प्रमुख तकनीकी कंपनियों Google और Microsoft के सीईओ सुंदर पिचाई और सत्या नडेला ने COVID मामलों की भयावहता में वृद्धि के बीच भारत को मदद की घोषणा की है।

Google के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई ने अनुदान देने के लिए यूनिसेफ और गेटइंडिया को 135 करोड़ रुपये के राहत कोष का ऐलान किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गूगल और उनकी टीम मेडिकल सप्लाई करेंगी. इसके साथ ही हाई रिस्क वाली कम्युनिटी की मदद करने वाले संगठनों की भी मदद करेंगे।

कंपनी के प्रमुख और वीपी संजय गुप्ता के हस्ताक्षर वाले ब्लॉग पोस्ट में कहा कि 135 करोड़ रुपये के फंडिंग में Google.org से दो ग्रेन शामिल हैं, जिनकी कुल कीमत 20 करोड़ रुपये है।

इसमें पहला अनुदान गेटइंडिया के लिए है, ताकि अपने रोजमर्रा के खर्चों में मदद करने के लिए संकट से पीड़ित परिवारों को नकद सहायता प्रदान की जा सके। इसके अलावा दूसरा अनुदान यूनिसेफ को जाएगा, जो ऑक्सीजन और परीक्षण उपकरणों सहित तत्काल चिकित्सा आपूर्ति प्राप्त करने में मदद करेगा, जिसकी भारत में इस समय सबसे ज्यादा जरूरत है। इसके अलावा अनुदान में अभियान चलाने वाले कर्मचारियों का दान भी शामिल है। ब्लॉग पोस्ट में कहा गया है कि अब तक 900 से अधिक Google कर्मचारियों ने हाई रिस्क वाले वाले देशों का समर्थन करने वाले संगठनों के लिए 3.7 करोड़ रुपये का योगदान दिया है।

वहीं एक ट्वीट में नडेला ने कहा कि वह आभारी हैं कि अमेरिकी सरकार मदद करने के लिए जुट रही है।

नदेल ने ट्वीट किया कि "मैं भारत की वर्तमान स्थिति से बहुत दुःखी हूं। मैं आभारी हूं कि अमेरिकी सरकार मदद के लिए जुट रही है। Microsoft राहत के प्रयासों में सहायता के लिए अपनी आवाज, संसाधनों और प्रौद्योगिकी का उपयोग करना जारी रखेगा, और महत्वपूर्ण ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेशन डिवाइस की खरीद में मदद करेगा" ।

बता दें कि अमेरिका में 'अमेरिका फर्स्ट’ नीति को विराम देते हुए राष्ट्रपति जो बिडेन का प्रशासन चौबीसों घंटे काम कर रहा है , ताकि भारत को कोविशील्ड और अन्य उत्पादों को बनाने के लिए आवश्यक कच्चे माल को तुरंत भेजा जा सके। अमेरिका भारत को COVID आपूर्ति जैसे टेस्ट किट, वेंटिलेटर, दवाएं और फ्रंटलाइन वर्कर्स द्वारा उपयोग किए जाने वाले PPE किट भी भेजेगा।

अमेरिका दिल्ली, भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय और भारत की महामारी खुफिया सेवा के साथ काम करने के लिए सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (सीडीसी) और यूएसएआईडी से सार्वजनिक स्वास्थ्य सलाहकारों की एक विशेषज्ञ टीम भी तैनात कर रहा है।

Top Stories

post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

Pandit Harishankar Foundation

Videos you like

Watch More