post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

'शूटर दादी' चंद्रो तोमर का कोविद -19 से निधन

Public Lokpal
April 30, 2021 | Updated: April 30, 2021

'शूटर दादी' चंद्रो तोमर का कोविद -19 से निधन


मेरठ: दिग्गज शार्पशूटर चंद्रो तोमर, जिन्हें 'शूटर दादी' के नाम से भी जाना जाता है, का शुक्रवार को मेरठ के मेडिकल कॉलेज में कोविद -19 से निधन हो गया। सांस लेने में कठिनाई की शिकायत के बाद उन्हें इस सप्ताह की शुरुआत में मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहाँ 27 अप्रैल को उनके नोबल कोरोनावायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी।

2019 में आई बॉलीवुड फिल्म "सांड की आंख" उनके जीवन से प्रेरित थी।

चंद्रो तोमर की उम्र 60 साल अधिक थी जब उन्होंने पहली बार बंदूक उठाई, लेकिन कई राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में जीत हासिल की। ऐसा माना जाता है कि वह दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला शार्प शूटर थी।

उसने अपनी बहन प्रकाशी तोमर के साथ कई प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया। प्रकाशी तोमर दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला शार्प शूटरों में से एक हैं।

एक बार जब वह खेल से जुड़ी, तो पीछे मुड़कर फिर कभी देखा। वे एक के बाद एक तमाम प्रतियोगिताओं में पदक जीत रही थीं।

शूटर दादी ने वरिष्ठ नागरिक श्रेणी में कई पुरस्कार जीते, जिसमें भारत के राष्ट्रपति द्वारा उन्हें 'स्त्री शक्ति सम्मान' से भी नवाजा गया था।