post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

25 दिनों में उत्तराखंड में कोरोना के मामलों में 1,800% का उछाल! क्या यह है महाकुम्भ का इफेक्ट?

Public Lokpal
April 27, 2021

25 दिनों में उत्तराखंड में कोरोना के मामलों में 1,800% का उछाल! क्या यह है महाकुम्भ का इफेक्ट?


देहरादून: उत्तराखंड में 31 मार्च से 24 अप्रैल के बीच सक्रिय मामलों में विस्फोटक 1,800% का उछाल दर्ज किया गया है। यह अवधि हरिद्वार महाकुंभ की भी है, जो यह साफ इशारा करता है कि महाकुम्भ में जुटी भीड़ राज्य में राज्य सुपर स्प्रेडर के रूप में बदल सकती है।

महाकुम्भ से पहले 31 मार्च तक उत्तराखंड में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 1,863  थी। जो 1 अप्रैल को महाकुम्भ शुरू होने के बाद 24 अप्रैल तक 33,330 तक पहुंच गई। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, 12 अप्रैल को हरिद्वार में 35 लाख से अधिक लोग इकट्ठा हुए थे और यह आंकड़ा 14 अप्रैल को 13.51 लाख से अधिक आंका गया था। दोनों दिन शाही स्नान थे।

सरकार के प्रवक्ता और मंत्री सुबोध उनियाल ने कोरोना मामलों में आई इस वृद्धि के लिए पर्यटकों के उत्साह और आगमन को दोषी ठहराया। मंत्री ने कहा "हम यह सुनिश्चित करने के लिए सब कुछ कर रहे हैं कि यह सब जल्द ही खत्म हो जाए"।

कुंभ का अंतिम शाही स्नान मंगलवार यानी आज है। इस घटना पर पूछे गए सवालों के जवाब में, 14 अखाड़ों में से दूसरे सबसे सबसे प्रमुख अखाड़ा निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत रविंद्र पुरी ने कहा: "हमने पहले ही सूचित कर दिया है कि शाही स्नान प्रतीकात्मक होगा।" 

वहीं हाई कोर्ट ने चारधाम यात्रा पर राज्य को यह सुनिश्चित करने का आदेश दिया है कि वह दूसरे कुंभ में न बदले। कोर्ट ने सरकार को यात्रा के लिए दिशानिर्देश तैयार करने का आदेश दिया है।

चार धाम देवस्थानम बोर्ड के अध्यक्ष और गढ़वाल मंडल के आयुक्त रविनाथ रमन ने कहा, “दिशा-निर्देश जल्द ही हर संभव एहतियात के साथ जारी किए जाएंगे ताकि कोरोना का प्रसार न बढ़े। हमारी एसओपी केंद्र और राज्य सरकार के सुरक्षा उपायों की तर्ज पर होगी और पिछले साल हमने जो सावधानियां बताई थीं, में भी कुछ और सावधानियां जोड़ी जाएंगी''।

Also Read | कोरोना मामलों में उछाल के बीच उत्तराखंड में लगाए गए कठोर प्रतिबंध, नाईट कर्फ्यू लागू

Top Stories

post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

Pandit Harishankar Foundation

Videos you like

Watch More