post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

बाढ़ पर मद्रास हाई कोर्ट ने ली चेन्नई कॉर्पोरेशन की खबर, पूछा '2015 की बाढ़ के बाद से क्या कर रहे थे आप?'

Public Lokpal
November 09, 2021 | Updated: November 09, 2021

बाढ़ पर मद्रास हाई कोर्ट ने ली चेन्नई कॉर्पोरेशन की खबर, पूछा '2015 की बाढ़ के बाद से क्या कर रहे थे आप?'


चेन्नई: बारिश के दौरान शहर में बाढ़ जैसी स्थिति को रोकने के लिए पर्याप्त कदम उठाने में विफल रहने के लिए ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन की खबर लेते हुए मद्रास उच्च न्यायालय ने मंगलवार को आश्चर्य जताया कि '2015 की बाढ़ के बाद अधिकारी क्या कर रहे थे?'

इसके अलावा कोर्ट ने जलभराव की स्थिति को नियंत्रण में नहीं लाने पर नगर निकाय को स्वत: संज्ञान से कार्यवाही शुरू करने की चेतावनी दी। चेन्नई सहित तमिलनाडु के अन्य हिस्सों में हुई लगातार बारिश में पांच लोगों की मौत की खबर है। एक आधिकारिक बयान में, तमिलनाडु सरकार ने पुष्टि की कि पिछले 24 घंटों में चेन्नई और अन्य जिलों-थेनी और मदुरै में बारिश से संबंधित घटनाओं में पांच लोगों की जान चली गई। इसके अलावा, राज्य भर में 538 झोपड़ियां और 4 घर क्षतिग्रस्त हो गए।

तमिलनाडु के राजस्व और आपदा प्रबंधन मंत्री केकेएसएसआर रामचंद्रन ने मंगलवार को संवाददाताओं से बात करते हुए पुष्टि की “तमिलनाडु में बारिश के कारण 5 मौतें, 538 झोपड़ियां क्षतिग्रस्त, 4 घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं। बारिश तेज होने पर अधिक नुकसान की उम्मीद है”।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के क्षेत्रीय केंद्र ने भविष्यवाणी की है कि चेन्नई और तमिलनाडु के लगभग सभी अन्य जिलों में अगले दो दिनों तक भारी बारिश और गरज के साथ बारिश जारी रहेगी।

रेनकोट पहने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन को लगातार बारिश से प्रभावित लोगों को भोजन और अन्य राहत सामग्री वितरित करते देखा गया।

स्वास्थ्य विभाग ने सभी निजी अस्पतालों से उचित जनरेटर लगाने का अनुरोध किया है क्योंकि भारी बारिश के कारण बिजली गुल होने की संभावना अधिक है।

Top Stories

post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post

Advertisement

Pandit Harishankar Foundation

Videos you like

Watch More